City Today News

तृणमूल को बदनाम करने के लिए संदेशखाली में सीबीआई का छापा, तृणमूल की चुनाव आयोग से शिकायत

sandeshkhali

CTN

File Photo

प्राप्त खबरों के अनुसार तृणमूल कांग्रेस ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को पत्र लिखा l मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तृणमूल कांग्रेस ने कहा है कि सीबीआई और एनएसजी बम निरोधक दस्ते सहित अतिरिक्त बल बुलाए हैं।
संदेशखाली मामले को लेकर राज्य की राजनीति में हलचल मची हुई है l संदेशखाली मुद्दे पर तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से संपर्क किया है l घासफुल खेमे ने आरोप लगाया कि दूसरे चरण के मतदान के दौरान संदेशखाली में एक खाली जगह पर जानबूझकर छापा मारा गया। यह अभियान तृणमूल को बदनाम करने के लिए किया गया है l तृणमूल कांग्रेस ने शुक्रवार को कहा कि जब दार्जिलिंग, रायगंज, बालुरघाट लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव चल रहे थे तो केंद्रीय एजेंसी ने जानबूझकर संदेशखाली में छापेमारी की। जिससे कि तृणमूल कांग्रेस संकट में पड़े l
तृणमूल कांग्रेस ने शुक्रवार को चुनाव आयोग को पत्र लिखा l मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि उसने सीबीआई और एनएसजी बम निरोधक दस्ते सहित अतिरिक्त बल बुलाए हैं। यह भी दावा किया गया है कि यह सही नहीं है l तृणमूल ने यह भी कहा कि कानून-व्यवस्था पूरी तरह से राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में आती है। सीबीआई द्वारा इस तरह की छापेमारी करने से पहले राज्य पुलिस को कोई पत्र भी नहीं भेजा गया था l तृणमूल कांग्रेस ने यह भी कहा कि राज्य पुलिस के पास अपना बम दस्ता है l इससे इस अभियान में मदद मिल सकती है l लेकिन इस तरह की छापेमारी से पहले सीबीआई ने राज्य से कोई मदद नहीं मांगी l लेकिन छापेमारी की खबर पूरे देश में तेजी से फैल गई l
चुनाव आयोग को लिखे पत्र में तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि सीबीआई ने तृणमूल कांग्रेस और पार्टी उम्मीदवारों के खिलाफ देशव्यापी नफरत पैदा करने की हर संभव कोशिश की है l लेकिन तृणमूल कांग्रेस ने पत्र में यह भी दावा किया कि उनकी सारी कोशिशें विफल हो गई हैं l यह भी गलत खबर फैलाई गई है कि इस घटना में तृणमूल कांग्रेस का कोई व्यक्ति शामिल है l यह भी दावा किया गया है कि यह सही नहीं है. तृणमूल ने यह भी कहा कि कानून-व्यवस्था पूरी तरह से राज्य सरकार के अधिकार क्षेत्र में आती है। सीबीआई द्वारा इस तरह की छापेमारी करने से पहले राज्य पुलिस को कोई पत्र भी नहीं भेजा गया था l
पत्र में तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी पर पलटवार किया है l इसमें यह भी आरोप लगाया गया कि भाजपा तृणमूल के खिलाफ गलत सूचना फैलाने के लिए सीबीआई समेत केंद्रीय जांच एजेंसी का इस्तेमाल कर रही है। तृणमूल ने कहा, ‘उसने आगे दोहराया कि राज्य सरकार के किसी भी प्रतिनिधि की अनुपस्थिति में हथियारों और गोला-बारूद की बरामदगी संभवतः इस स्थान पर हथियार लगाने के लिए सीबीआई और एनएसजी के साथ भाजपा की साजिश है।’
सीबीआई ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में तृणमूल कांग्रेस के अपदस्थ नेता शेख शाहजहां के एक करीबी रिश्तेदार के घर से बड़ी संख्या में हथियार बरामद किए। इसके अलावा शाहजहाँ के आवश्यक दस्तावेज़ भी बरामद किये गये। हथियारों में विदेशी हथियार भी शामिल थे l पुलिस ने हथियार भी बरामद किये गये l वहां अत्यधिक मात्रा में गोला-बारूद था l जनवरी में ही प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने राशन भ्रष्टाचार मामले में शेख शाहजहां के घर पर छापेमारी की थी l तभी उत्तेजित लोगों के एक समूह ने ईडी पर हमला कर दिया था l इस घटना के बाद से शाहजहां लापता था l 29 फरवरी को शाहजहां को राज्य पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था l इसके बाद शाहजहां सीबीआई के शिकंजे में हैं l कलकत्ता हाई कोर्ट के आदेश पर सीबीआई ने संदेशखाली मामले की जांच शुरू कर दी है l

City Today News

monika and rishi

Leave a comment