City Today News

बॉन्ड पर इलेक्शन कमीशन को टी एम सी और जद ( यू ) से मिला अटपटा जवाब,पता नहीं करोड़ों का चंदा कौन ऑफिस में रख गया…’

ममता नीतीश

चुनाव आयोग ने विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा सौंपे गए सीलबंद लिफाफों की जानकारी सार्वजनिक की। प्राप्त खबरों के अनुसार इस जानकारी में तृणमूल कांग्रेस और जेडी (यू) ने आयोग को अपने कुछ देनदारों के नाम छिपाने के लिए विचित्र तरीके की बातें कहीं। बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने कहा कि किसी ने कोलकाता में हमारे ऑफिस में सीलबंद चुनावी बॉन्ड रख दिए जिसका हमें कुछ नहीं पता। चुनावी बॉन्ड की जानकारी सामने आने के बाद राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है। इस बीच चुनाव आयोग ने बीते दिन विभिन्न राजनीतिक दलों द्वारा सौंपे गए सीलबंद लिफाफों की जानकारी सार्वजनिक की। इस जानकारी में तृणमूल कांग्रेस और जेडी (यू) ने आयोग को अपने कुछ देनदारों के नाम छिपाने के लिए विचित्र तरीके की बातें कहीं।

jdu on bond


दरअसल, 2018-19 के अपने चुनावी बॉन्ड के खुलासे में दोनों पार्टियों ने विचित्र स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि कुछ गुमनाम व्यक्तियों ने उनको दान दिया है। बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी ने कहा कि किसी ने कोलकाता में हमारे ऑफिस में सीलबंद चुनावी बॉन्ड रख दिए, जिसका हमें कुछ नहीं पता। ऐसी ही बात नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू ने कही कि उनके पटना ऑफिस में कौन चुनावी बॉन्ड रख गया, उन्हें पता नहीं है। हालांकि, जेडी (यू) ने अप्रैल 2019 में मिले 13 करोड़ में से 3 करोड़ रुपये के दानदाताओं की पहचान का खुलासा किया, लेकिन टीएमसी ने किसी दानदाता की पहचान का खुलासा नहीं किया, जिन्होंने 16 जुलाई 2018 और 22 मई 2019 के बीच पार्टी को चुनावी बॉन्ड से लगभग 75 करोड़ रुपये का दान दिया था। जेडीयू ने चुनाव आयोग से कहा कि अधिकांश बॉन्ड हमारे कार्यालय में भेजे गए थे और ड्रॉप बॉक्स में डाल दिए गए थे या विभिन्न व्यक्तियों के दूतों के माध्यम से भेजे गए थे, जो हमारी पार्टी का समर्थन करना चाहते थे।

jdu on bond 2

पार्टी ने कहा कि कई लोग गुमनाम रहना पसंद करते हैं, इसलिए हमारे पास उनका विवरण नहीं है l 30 मई 2019 को जद (यू ) ने अपने ने आवेदन में कहा कि कोई 3 अप्रैल 2019 को हमारे पटना कार्यालय में आया और बॉन्ड सौंप गया। एक लिफाफे में हमें 1 करोड़ के 10 बॉन्ड मिले हैं l

City Today News

monika and rishi

Leave a comment