City Today News

monika, grorius, rishi

केंद्र सरकार द्वारा एक जुलाई से लागु होने वाली 3 अधिनियम के बिरुद्ध काउंसिल न्यायिक कार्य से खुद को दूर रखकर विरोध जतायेंगे।

bar council

बार केन्द्र सरकार द्वारा एक जुलाई से तीन न्याय संहिता को लागू किया जा रहा है। इसके विरोध में बार काउंसिल की बैठक में निर्णय लिया गया है की आगामी एक जुलाई को काला दिवस मनायेंगे। इस दिन पश्चिम बंगाल और अंडमान एंड निकोबार के अधिवक्ता न्यायिक कार्य से खुद को दूर रखकर विरोध जतायेंगे। इस मुद्दे पर चर्चा पर, परिषद के सदस्यों ने (1) भारतीय न्याय संहिता, 2023 (2) भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता, 2023 और (3) भारतीय साक्ष्य अधिनियम, 2023 के संबंध में अपने सर्वसम्मति से विचार व्यक्त किए, ये तीन अधिनियम जनविरोधी, अलोकतांत्रिक हैं l यह अधिनियम कठोर और आम लोगों के लिए बड़ी कठिनाई का कारण बनेगा। बार काउंसिल ऑफ वेस्ट बंगाल को कोई अन्य विकल्प न मिलने पर इन तीन जनविरोधी अधिनियमों के खिलाफ जोरदार विरोध जताया और निम्नलिखित प्रस्ताव अपनाया : “सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि (1) भारतीय न्याय संहिता, 2023 (2) भारतीय नागरिक सुरक्षा संहिता, 2023 और (3) भारतीय नागरिक अधिनियम, 2023 के विरोध में यह परिषद 1 जुलाई, 2024 को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाएगी। बंगाल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह उस दिन अपने न्यायिक कार्य से दूर रहेंगे और सभी बार एसोसिएशन 1 जुलाई, 2024 को अपने-अपने एसोसिएशन में विरोध रैली निकालेंगे ।

City Today News

ghanty
monika and rishi

Leave a comment